User Posts: Real Shayari
0
शाम सूरज को ढलना सिखाती है
0

शाम सूरज को ढलना सिखाती है शमां परवाने को जलना गिरने पर चोट तो जरूर लगती है लेकिन ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है |

0
जिंदगी में जितने हमदर्द मिलते है
0

जिंदगी में जितने हमदर्द मिलते है सच कहु तो सबसे ज्यादा दर्द उन्ही से मिलते है |

0
सच्ची मोहब्बत तो दिल से होती है
0

सच्ची मोहब्बत तो दिल से होती है सच्चे रिश्ते भी दिल से होते है जरुरत के लिए बने रिश्ते अक्सर टूट जाया करते है |

0
Shikwe Ke Nam Se Be-Mehr Khafa Hota Hai
0

Shikve ke naam se be-mehr ḳhafā hotā hai Ye bhī mat kah ki jo kahiye to gila hotā hai   Pur huuñ maiñ shikve se yuuñ raag se jaise baajā ...

0
Jahan Tera Naqsh-E-Qadam Dekhte Hain
0

Jahāñ terā naqsh-e-qadam dekhte haiñ Khayābāñ ḳhayābāñ iram dekhte haiñ Dil-āshuftagāñ ḳhāl-e-kunj-e-dahan ke Suvaidā meñ sair-e-adam ...

0
मंजिल तक वही जाते है  जिनके पास हुनर होता है
0

मंजिल तक वही जाते है जिनके पास हुनर होता है सिर्फ पंखो से कुछ नहीं होता उड़ान हौसले से होती है |

0
Jada-E-Rah Khur Ko Waqt-E-Sham Hai Tar-E-Shuaa
0

Jāda-e-rah ḳhur ko vaqt-e-shām hai tār-e-shuā.a Charḳh vā kartā hai māh-e-nau se āġhosh-e-vidā.a Sham.a se hai bazm-e-añgusht-e-tahayyur dar ...

0
वादा ऐसा करो जिसे तुम निभा सको
0

वादा ऐसा करो जिसे तुम निभा सको चाहो उसको जिसे तुम पा सको दीवाने तो बहुत होते है दुनिया में पर तुम दीवाने ऐसे बनो जिसे दुनिया भुला ना सके|

0
खुश हो जाता हूँ अक्सर तेरा नाम सुनकर
0

खुश हो जाता हूँ अक्सर तेरा नाम सुनकर मुस्करा जाता हूँ तेरी तस्वीर देखकर तो सोच जब तेरे नाम से इतनी मोहब्बत है तो तुझसे कितनी मोहब्बत होगी |

0
Jab Tak Dahan-E-Zakhm Na Paida Kare Koi
0

Jab tak dahān-e-zaḳhm na paidā kare koī Mushkil ki tujh se rāh-e-suḳhan vā kare koī Aalam ġhubār-e-vahshat-e-majnūñ hai sar-ba-sar Kab tak ...

Browsing All Comments By: Real Shayari