तन्हाई
0
उनकी ख़ामोशी से हम परेशान क्यों है
0

उनकी ख़ामोशी से हम परेशान क्यों है वो जिद्दी है हम नादान क्यों है उनकी आवाज से ही धड़कता है दिल तो फिर वो इस बात से अंजान क्यों है

0
जीने की चाह में हर रोज मरते है
0

जीने की चाह में हर रोज मरते है वो आये ना आये हम इंतजार करते है झूठा ही सही मेरे प्यार का वादा हम आज भी सच मानकर उनका एतबार करते है

0
अगर इतनी ही नफरत करते है आप हमसे
0

अगर इतनी ही नफरत करते है आप हमसे तो रब से ऐसे दुआ करिये कि आपकी दुआ भी पूरी हो जाये और हमारी जिंदगी भी

0
जिंदगी में जितने हमदर्द मिलते है
0

जिंदगी में जितने हमदर्द मिलते है सच कहु तो सबसे ज्यादा दर्द उन्ही से मिलते है |

0
खुश हो जाता हूँ अक्सर तेरा नाम सुनकर
0

खुश हो जाता हूँ अक्सर तेरा नाम सुनकर मुस्करा जाता हूँ तेरी तस्वीर देखकर तो सोच जब तेरे नाम से इतनी मोहब्बत है तो तुझसे कितनी मोहब्बत होगी |

0
अनकही सी कुछ बातें , लम्हों में समां जाती हैं
0

अनकही सी कुछ बातें , लम्हों में समां जाती हैं यादों के समंदर में , अपना आशियाना बनाती है मीलों के फास्लो में , कुछ ठहराव वो लाती है ग़मो की घरी में वह वक़्त ...

0
ज़रा तिरछी पड़ने लगी है किरन अब
0

ज़रा तिरछी पड़ने लगी है किरन अब ज़रा सर्दियाँ सब्ज़ पत्तों में उतरीं ज़रा पड़ रही हैं कहीं और ही अब जवाँ हुस्न की बुल्हवस वो निगाहें तसव्वुर वो माज़ी का धुँधला ...

0
मेरी यादो मे तुम हो
0

मेरी यादो मे तुम हो, या मुझ मे ही तुम हो, मेरे खयालो मे तुम हो, या मेरा खयाल ही तुम हो, दिल मेरा धडक पूछे, बार बार एक ही बात, मेरी जान मे तुम हो, या मेरी ...

0
मिल जायेंगा हमें भी कोई टूट के चाहने वाला
0

मिल जायेंगा हमें भी कोई टूट के चाहने वाला… अब शहर का शहर तो बेवफा नहीं हो सकता …