masumshayari

नाम तो लिख दू उसका

नाम तो लिख दू उसका …

अपनी हर शायरी के साथ  ..

मगर फिर खयाल आता  है ,

मासूम सी है जान मेरी……

कही  बदनाम ना हो जाए!

  • Article By :
    Real Shayari Ek Koshish hai Duniya ke tamaan shayar ko ek jagah laane ki.

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*