सामान्य

पढ़िए नई और पुरानी प्यार भरी शायरी , लेटेस्ट कलेक्शन और रोज़ाना अपडेट किये हुए प्यार शायरी आप जरूर पसंद करेंगे, और अपने दोस्तों को फेसबुक ट्विटर और व्हाट्सप्प पर शेयर करे|

0
एक खलिश मेरे दिल…..
0

एक खलिश मेरे दिल में कुछ यु रह गयीज़िन्दगी मैं ज़रा ज़िन्दगी कुछ कम रह गयी।  

0
कोई सुबह हो ऐसी….
0

कोई सुबह हो ऐसी तेरा दीदार होकोई शाम तो ऐसी आये जो तू साथ हो।  

0
जब जबाब ख़ामोशी……
0

जब जबाब ख़ामोशी मैं हो तोलफ्ज़ो से  उलझना क्यों।

0
मिजाज इश्क़ के….
0

मिजाज इश्क़ के मेरे ज़रा हसास हैंतेरे गुरूर का बोझ उठा नहीं सकता ।

0
अब इश्क़ इतना नादां भी नहीं….
0

अब इश्क़ इतना नादां भी नहींकी हर दफा तुम्ही से हो।

0
की खुद से ही अभी अंजान है हम….
0

की क्या बताएं तआरुफ़ अपनाकी खुद से ही अभी अंजान है हम।

0
मुझे आबाद कर….
0

मुझे आबाद कर या मुझे फ़ना करे कोईउसकी यादो से मुझसे जुदा करे कोई Like4:02 pm

0
दूर जाने का उसे क्या गम होगा……..
0

दूर जाने का उसे क्या गम होगापास होकर भी वो कौन सा खुश था।

0
ठहर जाओ ना……
0

अनजान बने हो तो गुज़र क्यों नहीं जातेजान ही गए हो तो ठहर जाओ ना ।

0
उलझा रहने दो मुझे…..
1

उलझा रहने दो मुझेयुहीं तुम्हारे दरमियानसुलझ गए हम अगर तोदूरियाँ दास्तां बुनेंगी।

0
तेरी अदाकारी……….
0

तेरी अदाकारीमेरी ईमानदारीदोस्तों की नकली यारीमेर परवाह करने की बिमारीये झूटी रिश्तेदारीकई चेहरे लिए घूमने की कलाकारीयह है बनवटी दुनियादारी

0
कल एक छलावा है …..
0

कल एक छलावा है जिसकी सोच में जीना निर्थक हैआज हमारी सत्यता है जिसको सोचने मैं जाया करना वेबकूफी है।