Loneliness

Collection of Real Shayari in Loneliness Category

0
टूट कर चाहना, और फिर टूट जाना.
2

https://www.youtube.com/embed/7D_GtTVH3hg टूट कर चाहना, और फिर टूट जाना.बात छोटी सी है मगर जान,निकल जाती हैमुझे जिंदगी का इतना तजुर्बा तो नहीं,पर सुना है ...

0
is ummīd pe roz charāġh jalāte haiñ
0

is ummīd pe roz charāġh jalāte haiñ aane vaale barsoñ ba.ad bhī aate haiñ ham ne jis raste par us ko chhoḌā hai phuul abhī tak us par khilte jaate ...

0
कोई पूछे आशिको से जूनून क्या है…..
1

कोई पूछे आशिको से जूनून क्या हैइश्क़ क्या है दर्द की लज़्ज़त क्या है।

0
सबब लूटने का गर कोई पूछे तो ये कहना…
1

सबब लूटने का गर कोई पूछे तो ये कहनासाथ उनका न हो तो हमें जीना नहीं आता।

0
जाने ऐसी भी क्या तिश्नगी थी उनसे…..
0

जाने ऐसी भी क्या तिश्नगी थी उनसेआखरी सांस थी और तसव्वुर उनके साथ का।

0
दूर जाने का उसे क्या गम होगा……..
0

दूर जाने का उसे क्या गम होगापास होकर भी वो कौन सा खुश था।

0
दिलो को तोड़ने मैं …..
0

ज़िन्दगी सच मैं अगर होती चार दिन कीदिलो को तोड़ने मैं इसे कोई न गवाता।

0
उलझा रहने दो मुझे…..
1

उलझा रहने दो मुझेयुहीं तुम्हारे दरमियानसुलझ गए हम अगर तोदूरियाँ दास्तां बुनेंगी।

0
अपना कहकर अपनापन दिखाकर…………………
0

अपना कहकर अपनापन दिखाकरप्यार जताकर वो कह गए खुश रहना....................

0
न वो सपने देखो………….
0

न वो सपने देखो जो टूट जाएँन वो हाथ थामो जो छूट जाएँ।

0
वो झूठा प्यार ……………………..
0

वो झूठा प्यार हकीकत मैं दिखा करमेरी सच्ची मोहोब्बत के ख्वाब तोडा गया।

0
वो वक़्त आने पर सब वादों से मुकर गया………
0

वो वक़्त आने पर सब वादों से मुकर गया ये मेरा ज़र्फ़ था की मैं ख़ामोशी से बिखर गया.........