Allama Iqbal Shayari | गर्म-ए-फ़ुग़ाँ है जरस उठ कि गया क़ाफ़िला

गर्म-ए-फ़ुग़ाँ   है   जरस    उठ कि   गया     क़ाफ़िला वाए  वो  रह-रौ  कि  है मुंतज़़िर-ए-राहिला तेरी  तबीअत  है  और  तेरा ज़माना  है  और तेरे   मुआफ़िक़   नहीं ख़ानक़ही   सिलसिला दिल  हो  ग़ुलाम-ए-ख़िरद या…

शाहरयार की टॉप शेर: इस शायरी की गहरी दुनिया में खो जाइए

इस ब्लॉग में, हम आपको शाहरयार की 20 बेहद दिलचस्प शेर प्रस्तुत कर रहे हैं, जो इश्क, उम्मीद, और जीवन की गहराइयों को छूने का प्रयास करते हैं। शाहरयार की…

तस्वीर पर जवाबी शायरी

जीवित छवियों के अलावा, चित्रों को भी शायरी का विषय बनाया गया है। चित्र छवियों को प्रतिष्ठित बनाते हैं, लेकिन ये छवियाँ स्थिर होती हैं और बोलने या काम करने…

तन्हाई और जुदाई की गहराइयों को छूने वाली शायरी

आपके मजबूत दिमाग पर दुख या अलगाव की या अलगाव की अवश्यकता का दर्द भी अपने बलवान दिमाग पर बोझ डालता है। 1. “अब के हम बिछड़े तो शायद कभी…

अल्लामा इक़बाल की 20 शेरों की टॉप शायरी

1. “ख़ुदी को कर बुलंद इतना कि हर तक़दीर से पहले, ख़ुदा बंदे से ख़ुद पूछे बता तेरी रज़ा क्या है.” इस शेर में अल्लामा इकबाल ने ख़ुदी के महत्व…

प्यार पर शेर – Love Shayari

इश्क़, उर्दू कविता में सबसे लोकप्रिय विषयों में से एक है। इश्क़ पर सबसे प्रसिद्ध शेरों की सूची तैयार है। इनका चयन प्रसिद्धता और प्रत्येक शेर की गुणवत्ता के आधार…