दोस्ती

नयी व् पुरानी दोस्ती शायरी , बेहतरीन दोस्ती शायरी कलेक्शन और रोज़ाना अपडेट किये हुए लेटेस्ट दोस्ती शायरी आप जरूर पसंद करेंगे। आइए शेयर करे फेसबुक ट्विटर और व्हाट्सप्प पर.

0
एक खलिश मेरे दिल…..
0

एक खलिश मेरे दिल में कुछ यु रह गयीज़िन्दगी मैं ज़रा ज़िन्दगी कुछ कम रह गयी।  

0
कोई सुबह हो ऐसी….
0

कोई सुबह हो ऐसी तेरा दीदार होकोई शाम तो ऐसी आये जो तू साथ हो।  

0
जब जबाब ख़ामोशी……
0

जब जबाब ख़ामोशी मैं हो तोलफ्ज़ो से  उलझना क्यों।

0
आप वापस आने की …..
0

आप वापस आने की जहमत मत करनानाक़द्रों को भूल जाना अत है हमें। 1Like2:59 pm

0
ये चाँद की रौशनी…….
1

ये चाँद की रौशनी मुझे हर रोज़ कहती हैकुछ किस्से मोहोब्बत के पूरा हुआ नहीं करते।  

0
ये सोचो का …..
2

ये सोचो का ताल्लुक उनसे जुदा  नहीं होतादेखा है कई बार हमने सांसो को रोक के। 

0
जिसे कहते हो तुम …….
0

जिसे कहते हो तुम हमारी बर्बादीवो मेरी खुशनसीबी की ज़रा सी दास्ता हैं।

0
मिजाज इश्क़ के….
0

मिजाज इश्क़ के मेरे ज़रा हसास हैंतेरे गुरूर का बोझ उठा नहीं सकता ।

0
एक उम्र तमाम हुई ……
0

एक उम्र तमाम हुई उनके इंतज़ार मैंउसने आने का वादा किया हो ऐसा भी नहीं। 

0
अब इश्क़ इतना नादां भी नहीं….
0

अब इश्क़ इतना नादां भी नहींकी हर दफा तुम्ही से हो।

0
कोई दर्द न था जब ……
0

कोई दर्द न था जब तक हमदर्द न थाहमदर्द क्या मिला की ज़ख्म कोई नया। 

0
मुझे आबाद कर….
0

मुझे आबाद कर या मुझे फ़ना करे कोईउसकी यादो से मुझसे जुदा करे कोई Like4:02 pm