Tag: Shayari e Dard – दर्द ए दिल शायरी
0
नहीं जो दिल में जगह तो नजर में रहने दो,
0

नहीं जो दिल में जगह तो नजर में रहने दो,मेरी हयात को तुम अपने असर में रहने दो,मैं अपनी सोच को तेरी गली में छोड़ आया हूँ,मेरे वजूद को ख़्वाबों के घर में रहने ...