User Posts: Real Shayari
0
उलझा रहने दो मुझे…..
0

उलझा रहने दो मुझेयुहीं तुम्हारे दरमियानसुलझ गए हम अगर तोदूरियाँ दास्तां बुनेंगी।

0
तेरी अदाकारी……….
0

तेरी अदाकारीमेरी ईमानदारीदोस्तों की नकली यारीमेर परवाह करने की बिमारीये झूटी रिश्तेदारीकई चेहरे लिए घूमने की कलाकारीयह है बनवटी दुनियादारी

0
अपना कहकर अपनापन दिखाकर…………………
0

अपना कहकर अपनापन दिखाकरप्यार जताकर वो कह गए खुश रहना....................

0
कल एक छलावा है …..
0

कल एक छलावा है जिसकी सोच में जीना निर्थक हैआज हमारी सत्यता है जिसको सोचने मैं जाया करना वेबकूफी है।

0
एक उम्र वो थी जब……
0

एक उम्र वो थी जब जादू पर भी यकीन थाएक उम्र ये है जब हकीकत पर भी शक है।

0
न वो सपने देखो………….
0

न वो सपने देखो जो टूट जाएँन वो हाथ थामो जो छूट जाएँ।

0
वो झूठा प्यार ……………………..
0

वो झूठा प्यार हकीकत मैं दिखा करमेरी सच्ची मोहोब्बत के ख्वाब तोडा गया।

0
वो वक़्त आने पर सब वादों से मुकर गया………
0

वो वक़्त आने पर सब वादों से मुकर गया ये मेरा ज़र्फ़ था की मैं ख़ामोशी से बिखर गया.........

0
Love Hindi Shayari
0

जब उनको सोचता हूँ तो खुद को भूल जाता हूँ कभी हाल इश्क़ मैं उनका भी ऐसा था।

0
Love Shayari
0

ये दिल और इसकी खामोख़ा की खुशफ़हमिया की जब भी मिला उन्हें अपना समझा।

Browsing All Comments By: Real Shayari
  1. Hello there. How Can I help you.

  2. Zindagi bahut haseen hai bilkul Jannat ki tarah.
    Bus sahi aankhe chahiye dost unhe dekhne ko