User Posts: Real Shayari
0
आपके दिल ने हमें आवाज दी हम आ गएहमको ले आई मोहब्बत आपकी हम आ गए
0

आपके दिल ने हमें आवाज दी हम आ गएहमको ले आई मोहब्बत आपकी हम आ गए अपने आने का सबब हम क्या बताएँ आपकोबैठे बैठे याद आई आपकी हम आ गए हम है दिलवाले भला हम पर ...

0
सांझ की लाली सुलग-सुलग कर बन गई काली धूल
0

सांझ की लाली सुलग-सुलग कर बन गई काली धूल आए न बालम बेदर्दी मैं चुनती रह गई फूल रैन भई, बोझल अंखियन में चुभने लागे तारे देस में मैं परदेसन हो गई जब से ...

0
मैं तो झोंका हूँ हवाओं का उड़ा ले जाऊंगा,जागते रहना तुझे तुझसे चुरा ले जाऊंगा।
0

मैं तो झोंका हूँ हवाओं का उड़ा ले जाऊंगा,जागते रहना तुझे तुझसे चुरा ले जाऊंगा। हो के कदमों पे निछावर फूल ने बुत से कहा,ख़ाक में मिलकर भी मैं खुशबू बचा ले ...

0
तमन्ना छोड़ देते हैं… इरादा छोड़ देते हैं,चलो एक दूसरे को फिर से आधा छोड़ देते हैं।
0

तमन्ना छोड़ देते हैं… इरादा छोड़ देते हैं,चलो एक दूसरे को फिर से आधा छोड़ देते हैं। उधर आँखों में मंज़र आज भी वैसे का वैसा है,इधर हम भी निगाहों को तरसता ...

0
तुम्हारी राह में मिटटी के घर नहीं आतेइसीलिए तुम्हे हम नज़र नहीं आते
0

तुम्हारी राह में मिटटी के घर नहीं आतेइसीलिए तुम्हे हम नज़र नहीं आते मोहब्बतो के दिनों की यही खराबी हैये रूठ जाएँ तो लौट कर नहीं आते जिन्हें सलीका है ...

0
कोई ये कैसे बताए कि वो तन्हा क्यूँ है वो जो अपना था वही और किसी का क्यूँ है .
0

कोई ये कैसे बताए कि वो तन्हा क्यूँ हैवो जो अपना था वही और किसी का क्यूँ है . यही दुनिया है तो फिर ऐसी ये दुनिया क्यूँ हैयही होता है तो आख़िर यही होता क्यूँ ...

0
कोई जाता है यहाँ से न कोई आता है,ये दीया अपने ही अँधेरे में घुट जाता है।
0

कोई जाता है यहाँ से न कोई आता है,ये दीया अपने ही अँधेरे में घुट जाता है। सब समझते हैं वही रात की किस्मत होगा,जो सितारा बुलंदी पर नजर आता है। मैं इसी खोज ...

0
इंतहा आज इश्क़ की कर दीआपके नाम ज़िन्दगी कर दी
0

इंतहा आज इश्क़ की कर दीआपके नाम ज़िन्दगी कर दी था अँधेरा ग़रीब ख़ाने मेंआपने आ के रौशनी कर दी देने वाले ने उनको हुस्न दियाऔर अता मुझको आशिक़ी कर दी तुमने ...

0
आते-आते मेरा नाम सा रह गयाउस के होंठों पे कुछ काँपता रह गया
0

आते-आते मेरा नाम सा रह गयाउस के होंठों पे कुछ काँपता रह गया वो मेरे सामने ही गया और मैंरास्ते की तरह देखता रह गया झूठ वाले कहीं से कहीं बढ़ गयेऔर मैं था ...

0
अपने साये को इतना समझा देमुझे मेरे हिस्से की धूप आने दे
0

अपने साये को इतना समझा देमुझे मेरे हिस्से की धूप आने दे एक् नज़र में कई ज़माने देखे तूबूढ़ी आंखो की तस्वीर बनाने दे बाबा दुनिया जीत के मैं दिखा ...

Browsing All Comments By: Real Shayari
  1. Hello there. How Can I help you.

  2. Zindagi bahut haseen hai bilkul Jannat ki tarah.
    Bus sahi aankhe chahiye dost unhe dekhne ko