तूने तो रुला कर रख दिया ए जिंदगी,

तूने तो रुला कर रख दिया ए जिंदगी,
जा कर पूछ मेरी मां से कितने लाडले थे हम,
न जाने क्यों आज अपना घर मुझे अनजान सा लगता है,
तेरे जाने के बाद मां |
यह घर, घर नहीं बस मकान लगता है

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      %d bloggers like this: