परिवार से बड़ा कोई धन नही,
पिता से बड़ा कोई सलाहकार नही,
माँ की छांव से बड़ी कोई दुनिया नही,
भाई से अच्छा कोई भागीदार नही,
बहन से बड़ा कोई शुभचिंतक नही,
इसलिये “परिवार” से बड़ा कोई जीवन नही…

ना कोई राह आसान चाहिए,
ना ही हमें कोई पहचान चाहिए,
एक ही चीज माँगते है रोज भगवान से,
अपनों के चेहरे पर हर पल प्यारी से मुस्कान चाहिए…

जिन्दगी में किसी का साथ काफी है,
कंधे पर किसी का हाथ काफी हैं,
दूर हो या पास फ़र्क नही पड़ता,
सच्चे रिश्तों का तो बस एहसास काफ़ी हैं…

साथ नही रहने से रिश्ते नही टूटा करते,
वक्त की धुंध से लम्हें नही टूटा करते,
लोग कहते हैं मेरा सपना टूट गया,
टूटी नींद हैं सपने नही टूटा करते…

रिश्तों को मजबूत बनाने के लिए,
एक छोटा सा उसूल बनाते हैं,
रोज कुछ अच्छा याद रखते हैं,
और कुछ बुरा भूल जाते है…

Also Read – Real Shayari Maa Teri Yaad Satati Hai

Read More – Real Shayari | Asli Shayari | Sher | Shayar | Ghazal | Nazm

Browse more content – http://www.needtricks.com

Follow us – https://www.instagram.com/realshayari_/

https://www.facebook.com/RealShaayari

Youtube – https://studio.youtube.com/channel/UCit4KK7fbOM0TUxFJNrkwtg/videos/upload?filter=%5B%5D&sort=%7B%22columnType%22%3A%22

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

%d bloggers like this: