Tag: jaun elia rekhta
0
अपनी मंज़िल का रास्ता भेजो
2

अपनी मंज़िल का रास्ता भेजो  जान हम को वहाँ बुला भेजो  क्या हमारा नहीं रहा सावन  ज़ुल्फ़ याँ भी कोई घटा भेजो  नई कलियाँ जो अब ...