वतन हमारा मिसाल मोहब्बत की

वतन हमारा मिसाल मोहब्बत की
तोड़ता है दीवार नफ़रत की
मेरी खुशनसीबी है मिली जिंदगी इस चमन में
भुला ना सके खुशबू इसकी किसी भी जन्म में

Leave a Comment

%d bloggers like this: