ऐ ज़िन्दगी तेरी क्या कीमत है

ऐ ज़िन्दगी तेरी क्या कीमत है..!!

सबके कर्जे चुका दू मरने से पहले ऐसी मेरी नीयत है..!
मौत से पहले तू भी बता दे .. ऐ ज़िन्दगी तेरी क्या कीमत है..!!

चेहरा तो साफ कर ले, आइने को गंदा बताने वाले..!
हर वक़्त सामने वाला ही गंदा नहीं होता..!!

बिखेरे बैठा हूं कमरे में सब कुछ…
कहीं एक ख्वाब रखा था वो भी कहीं गुम है..! ?

दोस्तों की जुदाई का गम न करना,
दूर रहे तो भी मोहब्बत काम न करना,
अगर मिले ज़िन्दगी के किसी मोड़ पर,
तो हमें देखकर आंखें बंद न करना.
Doston ki judai ka gam na karna,
Dur rahe to bhi mohabbat kam na karna,
Agar mile zindagi ke kisi mod par,
To hame dekhkar ankhein band na karna.

शायरीयो का बादशाह हूँ और कलम मेरी रानी है,
अल्फाज़ मेरे गुलाम है, बाकी रब की महेरबानी है!!
Shayari ka badshah hoon aur kalam meri raani hai,
Alfaaz mere gulam hai, baaki rab ki maherabani hai!!

Also Read – बिच्छरण | Real Shayari

Read More – Real Shayari | Asli Shayari | Sher | Shayar | Ghazal | Nazm

Browse more content – http://www.needtricks.com

Follow us – https://www.instagram.com/realshayari_/

https://www.facebook.com/RealShaayari

Youtube – https://studio.youtube.com/channel/UCit4KK7fbOM0TUxFJNrkwtg/videos/upload?filter=%5B%5D&sort=%7B%22columnType%22%3A%22

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

%d bloggers like this: