कुछ झूठे ख्वाब…..

कुछ झूठे ख्वाब
कुछ अधूरी खवाहिशे
ज़िंदा रहने के लिए
कुछ तो सामान चाहिए।

Leave a Comment

%d bloggers like this: